जैतून के तेल की जानकारी और सवाल जवाब

Table of Contents

जैतून के तेल की जानकारी

जैतून का तेल (Zaitun ka Tel) इंसानी स्‍वास्‍थ्‍य के लिए बहुत लाभकारी होता है। इस तेल को सौंदर्य प्रसाधनों, औषधियों और खाना पकाने के लिए इस्‍तेमाल किया जाता है। जैतून की खेती और इस से तेल निकालने का व्यापार मुख्य तौरपर भूमध्य क्षेत्र मे अधिक पाया जाता है ।

जैतून का तेल इस्‍तेमाल करने से त्‍वचा (स्किन) और बालों से संबंधित समस्‍याओं से छुटकारा मिलता है। इसमें विटामिंस, मोनोअनसैचुरेटेड फैट्स और फैटी एसिड भरपूर मात्रा में मौजूद होते हैं। इसीतरह यह ऑयल फाइटोकेमिल्‍कस से भी युक्‍त होता है जो कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद करते हैं। बाजार मे जैतून के तेल की कई किस्‍में मौजूद हैं लेकिन एक्‍स्‍ट्रा वर्जिन ऑलिव ऑयल को सेहत के लिए सबसे ज्‍यादा बेहतरीन और लाभकारी माना जाता है। इसी लिए इनकी डिमांड सबसे ज्यादा होती है।

सवाल जवाब

जैतून का तेल तासीर मे ठंडा होता है या गरम ?

उत्तर : जैतून के तेल तासीर मे ठंडा होता है । इसके इसी ठंडी तासीर होने की वजह से इसे गर्मियों में बदन, हाथ पैर वगैर पर मालिश के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

ऑलिव ऑयल को हिंदी में क्या कहते हैं?

उत्तर : ऑलिव ऑयल (Olive Oil) को हिंदी में जैतून (Zaitun) का का तेल कहते है ।

जैतून का तेल सिर में लगाने से क्या होता है?

उत्तर : जैतून का तेल (Olive Oil)  सर मे लगाने से बहुत सुखदायक महसूस कराता है । यह तेल एंटीबैक्टीरियल और एंटी – फंगल गुणों से लैस होता है। इसके मॉइश्चराइजिंग गुण के वजह से खुजली को कम करने में मदद मिलती है, सूखेपन से लड़ता है, रूसी और भूसी से छुटकारा दिलाता है और ब्‍लॉक स्‍कैल्‍प को खोल देता है।

जैतून तेल के फायदे क्या है ?

उत्तर : जैतून का तेल मुख्य तौर पर खाने और लगाने में इस्तेमाल होता है। कोलेस्टेरॉल काम करता है। विभिन्न तरह के डाएट मे इसका इस्तेमाल किया जाता है ।

जैतून के तेल के क्या नुकसान है ?

उत्तर : त्वचा पर जैतून के तेल का ज्यादा इस्तेमाल मुँहासे की समस्या पैदा कर सकता है। अगर आपकी त्वचा तेलीय (oily skin) है, तो इसके चिपचिपेपन और तेलीय प्रकृति के कारण आपको पूरी तरह से जैतून का तेल इस्तेमाल करने से बचना चाहिए।


Leave a Comment